crossorigin="anonymous"> Artificial intelligence in Hindi | artificial intelligence क्या है ? - shripalblog

Artificial intelligence in Hindi | artificial intelligence क्या है ?

Artificial Intelligence in Hindi

Artificial intelligence –  आज का युग मशीन का युग है । आज के समय में मशीनों ओर सॉफ्टवेयर को बुद्धि के रूप में विकसित किया गया है कृत्रिम बुद्धि अर्थात आर्टिफीसियल इनटेलीजेंस मानव बुद्धि का केंद्र बिंदु बनता जा रहा है । आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस कंप्यूटर विज्ञान का एक अदभुत ओर शक्तिशाली अविष्कार है जिसकी वजह से मानव सभ्यता और अधिक विकसित हो गयी है । आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस के अंदर मानवीय बुद्धि ,  विचारों तथा भावनाओ को सिम्युलेट किया जाता है । आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस की मदद से कंप्यूटर प्रणाली पहले से  और अधिक विकसित हो गयी है । इसे short में  AI भी कहते है।

Artificial Intelligence

Artificial Intelligence in hindi –
आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस विज्ञान की एक ऐसी शाखा है जिसकी सहायता से ऐसी मशीनों को तैयार किया जाता है , जो बड़ी से बड़ी ओर छोटी से छोटी समस्याओ का समाधान मनुष्य के समान सोच समझ कर करती है । आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस में मनुष्य के द्वारा सुझाये गए समाधानों को मशीन की मेमोरी में स्टोर कर लिया जाता है। मनुष्य के ज्ञान, अनुभवो तथा विचारों को कंप्यूटर अपनी भाषा अर्थात मशीन की भाषा मे एल्गोरिथ्म के रूप में स्टोर कर दिया जाता है आवश्यकता के अनुसार उसका उपयोग भी कर लिया जाता है ।
आज के समय मे हम मशीनों के ऊपर निर्भर है हैम अपने दैनिक जीवन मे कंप्यूटर तकनीक का उपयोग प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष दोनो रूप में परस्पर कर रहे है । आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस तकनीक का उपयोग समय, धन, तथा श्रम आदि सभी प्रकार के क्षेत्रों में परस्पर कर रहे है । जिनकी वजह से आज के समय मे इन मशीनों की उपयोगिता ओर अधिक बढ़ती जा रही है।

Artificial intelligence  की परिभाषा – 

अगर सीधे व सरल शब्दों में कहा जाए कि आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस क्या है तो हम कह सकते है की मानवीय ज्ञान , विचार , भावनाओं को कंप्यूटर की मदद से एक मशीन में लोड करना और कंप्यूटर की मदद से ही उस तकनीक का उपयोग कर लेना ही आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस है । आपको ज्ञान के लिए बता दे कि आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस एक प्राकृतिक ज्ञान भंडार या बुद्धिमत्ता नही है बल्कि यह मानवीय संवेदनाओ ओर , ज्ञान , अनुभाव  विचारों भावनाओं तथा बुद्धिमानी का एक अनुप्रयोग है इसलिए इसे कंप्यूटेशनल इंटेलिजेंस ( Computational Intelligence ) के नाम से भी जाना जाता है।
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग मुख्यतः निम्नलिखित उपकरणो में होता है – 
  1. अधिकतर  कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग रोबोट बनाने के लिए किया जाता है।
  2. आज के समय की डिजिटल और लग्जरी कार , मेट्रो ट्रेन, बुलेट ट्रेन तथा वायुयान में भी इसका उपयोग किया जाता है।
  3. सुपर कंप्यूटर और पर्सनल कंप्यूटर में कृत्रिम बुद्धिमत्ता का ही प्रयोग होता है।
  4. विभिन्न प्रकार के गेम में जैसे वीडियो गेम और कंप्यूटर गेम बनाने में इसका प्रयोग किया जाता है।
  5. आधुनिक समय के आधुनिक उपकरण जैसे माइक्रोवेव, ओवन,  हेल्थ केयर व बॉडी केयर तथा एयर कंडीशनर आदि क्षेत्रों में भी इसका प्रयोग किया जाता है।
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की अवधारणा – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की अवधारणाएं निम्न है –
1. कॉग्निटिव विज्ञान –  इस प्रकार की विज्ञान में मस्तिष्क एवं उसकी प्रक्रियाओं का अंतरविषयी  अध्ययन होता है कॉग्निटिव से आशय है किसी भी मानसिक ऑपरेशन या संरचना से जिसका यथार्थ रूप से अध्ययन करना असंभव है कॉग्निटिव विज्ञान का क्षेत्र अत्यंत व्यापक है।
2. एप्रोच (Approaces) – कॉग्निटिव विज्ञान का अध्ययन निम्न प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है जैसे सांकेतिक कनेक्शनिस्ट डायनामिक सिस्टम या अस्थाई ।
  •  सांकेतिक – इसका वर्णन संकेतों के प्रयोग से गणना का सिद्धांत व मानसिक मॉडल कार प्रणालियों से संभव है इसका सबसे अच्छा उदहारण डिजिटल कंप्यूटर है |
  • कनेक्शनिस्ट – इसका दूसरा नाम सब सिंबॉलिक है इसका अध्ययन हम तभी कर सकते हैं जब अप्राकृतिक न्यूट्रल नेटवर्क पर भौतिक मानसिक विशेषताओं के प्रयोग से ही संभव है।
  •  डायनामिक सिस्टम – इसका वर्णन डायनॉमिकल सिस्टम द्वारा होता है तथा इसमें सभी तत्व एक दूसरे से संबंधित होते हैं
3. विश्लेषण का क्रम या लेवल – कॉग्निटिव विज्ञान की सांकेतिक  एप्रोच में प्रयुक्त होने वाले मुख्य सिद्धांत यह है कि –
  • विश्लेषण के विभिन्न प्रकार की क्रम है जिससे दिमाग और मन का अध्धयन संभव है।
  •  मानसिक अध्ययन मल्टीपल लेवल आफ एब्स्ट्रेक्शन से इसे और अच्छी तरह से समझा जा सकता है
एक सामान्य बात जो (LOA) को समझाने में प्रयुक्त होती है वह है कंप्यूटर और दिमाग की तुलना इसका बहुत एक लेवल कंप्यूटर का हार्डवेयर होता है तथा व्यवहारिक लेवल कंप्यूटर का सॉफ्टवेयर होता है तथा कार्यात्मक लेवल हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के मध्य उपस्थित ऑपरेटिंग सिस्टम होता है।
4. अनुशासित प्रकृति – कॉग्निटिव विज्ञान एक अनुशासित क्षेत्र है जिसमें विभिन्न क्षेत्रों जैसे मनोविज्ञान न्यूरोविज्ञान ,  फिलोसपी , कंप्यूटर  विज्ञान का समावेश है यह विज्ञान विश्व को बाहरी रूप से देखता है कॉग्निटिव विज्ञान तथा अन्य विज्ञान के बीच में आज भी काफी अंतर बना हुआ है।
5. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की समय सीमा – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का कार्यक्षेत्र 1950 में प्रारंभ हुआ और  तब से लेकर आज तक इसमें  अनेकों सफलताएं प्राप्त हो चुकी है।
6. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मेकैनिज्म – आर्टिफिशियल सिस्टम ऑटोमेटेड इंटरफीयरेंस इंजिनों के फलस्वरूप बनी है यह स्थिति तथा कारक पर आधारित होती हैं।
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अनुप्रयोग – एआई के अनुप्रयोग निम्न है –
  1.  पैटर्न की पहचान करने में ।
  2. कंप्यूटर विजन वर्चुअल रियलिटी इमेज प्रोसेसिंग में इसका उपयोग होता हैं।
  3. कृत्रिम बुद्धिमत्ता या डायग्नोसिस
  4. गेम एआई तथा कंप्यूटर गेम बोट।
  5. ऑप्टिकल अक्षरों को पहचानना
  6. हस्तलिपि की पहचान
  7. फेस या मुख्य की पहचान ।
इसके अलावा कई क्षेत्र हैं जिनमें एआई मित्रों का प्रयोग होता है जो निम्नानुसार हैं –
1. रोबोट ( robot ) – रोबोटिक प्रत्यक्ष स्वचालित यंत्र है जिसमें मानव की समान बुद्धिमान तथा आज्ञाकारी मशीन है। रोबोट शब्द “robata” शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ “forced labour ” यानी  बलपूर्वक कार्य कराना होता है।
2. रोबोटिक्स ( robotics ) – अधिकतर कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग रोबोटेक्स का निर्माण करने के लिए होता है।  रोबोटिक्स कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग का एक क्षेत्र है जो लोगों के निर्माण से संबंधित है ।
Artificial intelligence के लाभ  ( Advantage of Artificial Intelligence ) –
1. मनुष्यों को दिया गया कार्य मशीनों के द्वारा  शीघ्रता पूर्ण किया जा सकता है।
2. इसमें इरर तथा डिफेक्ट्स कम होते हैं ।
3. इसकी मदद से जटिल सॉफ्टवेयर को आसानी से समझने लायक बनाया जा सकता है।
4. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से संसाधनों तथा किस समय का दुरुपयोग नहीं होता है बल्कि कम समय में लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है।
Artificial intelligence की हानियां ( Disadvantage of Artificial Intelligence )  – 
1. ह्यूमन की क्वालिटी को इग्नोर किया जाता है।
2. इससे नई जनरेशन को खतरा हो सकता है यह नई जनरेशन को बिलकुल भ्रष्ट भी कर सकती है।
3. इसमें इंफॉर्मेशन की कोई फिल्टरिंग नहीं होती है।

FAQ’s on Artificial Intelligence

1.आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जनक कौन हैं?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जनक जॉन मैकार्थी हैं।

2.कृत्रिम बुद्धि का पिता कौन है ?

जॉन मैकार्थी । आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जनक जॉन मैकार्थी हैं। जॉन मैकार्थी (4 सितंबर, 1927 - 24 अक्टूबर, 2011) यह एक अमेरिकी कंप्यूटर वैज्ञानिक और संज्ञानात्मक वैज्ञानिक थे। मैकार्थी कृत्रिम बुद्धि के अनुशासन के संस्थापकों में से एक थे।

3. AI full form in hindi

Artificial Intelligence आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस

4.definition of artificial intelligence in hindi

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस की परिभाषा - 7. अगर सीधे व सरल शब्दों में कहा जाए कि आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस क्या है तो हम कह सकते है की मानवीय ज्ञान , विचार , भावनाओं को कंप्यूटर की मदद से एक मशीन में लोड करना और कंप्यूटर की मदद से ही उस तकनीक का उपयोग कर लेना ही आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस है ।

5. meaning of artificial intelligence in hindi

कृत्रिम बुद्धिमत्ता आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस एक प्राकृतिक ज्ञान भंडार या बुद्धिमत्ता नही है बल्कि यह मानवीय संवेदनाओ ओर , ज्ञान , अनुभाव विचारों भावनाओं तथा बुद्धिमानी का एक अनुप्रयोग है इसलिए इसे कंप्यूटेशनल इंटेलिजेंस ( Computational Intelligence ) के नाम से भी जाना जाता है।

6. what is artificial intelligence in hindi

आर्टिफिशियल इनटेलीजेंस विज्ञान की एक ऐसी शाखा है जिसकी सहायता से ऐसी मशीनों को तैयार किया जाता है , जो बड़ी से बड़ी ओर छोटी से छोटी समस्याओ का समाधान मनुष्य के समान सोच समझ कर करती है ।

Conclusion

आशा है की यह पोस्ट आपको अच्छी तरह से समझ में आई होगी और अब आप जान चुके होगे की कृत्रिम बुद्धिमत्ता क्या है ( Artificial Intelligence in hindi ) और इससे लाभ और हानि क्या क्या है । एसे ही टेक्नोलॉजी से रिलेटेड जानकारी के लिए हमारे blog को सब्सक्राइब जरुर करे ।

Leave a Comment